BSE बंबई स्टॉक एक्सचेँज

BSE बंबई स्टॉक एक्सचेँज के बारे में विस्तार से हिंदी में। बंबई स्टॉक एक्सचेँज कब बना और इसके क्या काम हैं। दुनिया के दूसरे शेयर बाजारों के मुकाबले और NSE के मुकाबले इसका क्या स्थान है। बंबई स्टॉक एक्सचेँज की सरंचना, उद्देश्य और मुख्य कार्य। साथ ही समझेंगे इसका इतिहास और वर्तमान में यह देश की अर्थव्यवस्था में यह किस प्रकार अपना योगदान दे रहा है।

बंबई स्टॉक एक्सचेँज के बारे में
बंबई स्टॉक एक्सचेँज के बारे में

BSE बंबई स्टॉक एक्सचेँज

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) भारत का पहला और सबसे बड़ा प्रतिभूति बाजार है और 1875 में नेटिव शेयर और स्टॉक ब्रोकर्स एसोसिएशन के रूप में स्थापित किया गया था। मुंबई में स्थित बीएसई पर 6,000 के करीब कंपनियां सूचीबद्ध है और न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (एनवाईएसई), नासडैक, लंदन स्टॉक एक्सचेंज समूह, जापान एक्सचेंज समूह और शंघाई स्टॉक एक्सचेंज के साथ दुनिया के सबसे बड़े एक्सचेंजों में से एक है। बीएसई ने खुदरा ऋण बाजार समेत देश के पूंजी बाजारों को विकसित करने में मदद की है और भारतीय कॉर्पोरेट क्षेत्र को बढ़ाने में भी इसका बहुत बड़ा योगदान है।

इलेक्ट्रॉनिक व्यापार प्रणाली

1995 में बीएसई एक खुली फ्लोर पर ट्रेडिंग करने वाली एक्सचेंज से इलेक्ट्रॉनिक व्यापार प्रणाली में बदल गया। अकेले यू.एस. में एक दर्जन से अधिक इलेक्ट्रॉनिक एक्सचेंज हैं। आज इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम कुल मिलाकर वित्तीय उद्योग पर छा गया है। इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम पारंपरिक खुली ट्रेडिंग प्रणालियों की तुलना में कम त्रुटियां, तेजी से निष्पादन और बेहतर दक्षता प्रदान करता है। बीएसई ऑन-लाइन ट्रेडिंग (बीओएलटी) नामक इस स्वचालित, स्क्रीन-आधारित ट्रेडिंग प्लेटफार्म में प्रतिदिन 8 मिलियन ऑर्डर कर सकने की क्षमता है।

सिक्योरिटीज

बीएसई पर लिस्टेड सिक्योरिटीज में सिक्योरिटीज स्टॉक, स्टॉक फ्यूचर, स्टॉक ऑप्शन, इंडेक्स फ्यूचर्स, इंडेक्स ऑप्शन और साप्ताहिक ऑप्शन शामिल हैं। बीएसई का समग्र प्रदर्शन इसके इंडेक्स सेंसेक्स द्वारा मापा जाता है। बीएसई के सबसे बड़े शेयरों में से 30 शेयर इसके सूचकांक में शामिल हैं और 12 उद्योग क्षेत्रों को कवर करते हैं।

10 वां सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज

भारत में बंबई स्टॉक एक्सचेँज के अलावा नेशनल स्टॉक एक्सचेँज भी है। एशिया में दूसरे बड़े स्टॉक एक्सचेँज हैं टोक्यो स्टॉक एक्सचेंज और शंघाई स्टॉक एक्सचेंज। बीएसई अप्रैल 2018 के आंकड़ों के अनुसार $ 2.3 ट्रिलियन से अधिक की कुल बाजार पूंजीकरण के साथ दुनिया का 10 वां सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। आज बीएसई इक्विटी, मुद्राओं, ऋण उपकरणों, डेरिवेटिव्स, म्यूचुअल फंड में व्यापार के लिए एक कुशल और पारदर्शी बाजार प्रदान करता है।


सबसे तेज़ गति

6 माइक्रो सेकंड की गति से सौदे निपाटाने के कारण बंबई स्टॉक एक्सचेँज एशिया का पहला और सबसे तेज़ गति से काम करने वाला स्टॉक एक्सचेंज है। पिछले 143 वर्षों में, बीएसई ने भारतीय कॉर्पोरेट क्षेत्र के विकास में सहयोग दिया है और उसे एक पूंजी जुटाने के मंच के रूप में कुशल सुविधा प्रदान की है।

सेंसेक्स

बीएसई का लोकप्रिय इक्विटी इंडेक्स – एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स – भारत का सबसे व्यापक रूप से ट्रैक किया जाने वाला स्टॉक मार्केट बेंचमार्क इंडेक्स है।

बीएसई को आप चाहे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज कहिये, बंबई स्टॉक एक्सचेँज या मुबई स्टॉक एक्सचेँज इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जिस सड़क पर बीएसई की बिल्डिंग हे उसके नाम पर इसे दलाल स्ट्रीट भी कहा जाता है। भारत को अपने इस आधुनिक ऑटोमेटिड इलेक्ट्रॉनिक व्यापार प्रणाली वाले व्यापारिक संस्थान पर गर्व है।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *