Debt Fund in Hindi

Debt Fund in Hindi डेट फंड क्या हैं औऱ यह किस तरह काम करते हैं। इनमें निवेश के क्या फायदे हैं और यह किस तरह से सुरक्षित निवेश का जरिया हैं। डेट फंड को क्यों पोर्टफोलियो का हिस्सा बनाना चाहिये और यह किस तरह से ये आपके पूरे पोर्टफोलियो के जोखिम को संतुलित करते हैं यह सब जानते हैं आसान हिंदी में। साथ ही जानेंगे कि कैसे डेट फंड फिक्स्ड डिपॉजिट जा बेहतर विकल्प हो सकते हैं। यहां पढ़ें म्यूचुअल फंड के बारे में विस्तार से हमारी साइट पर।

डेट फंड क्या हैं
Debt Fund in Hindi डेट फंड क्या हैं

डेट फंड क्या हैं

Debt Fund in Hindi डेट फंड एक निवेश पूल है जैसे म्यूचुअल फंड या एक्सचेंज ट्रेडेड फंड जिसमें मुख्य निवेश निश्चित आय के साधनों में किया जाता हैं। डेट फंड अल्पकालिक या दीर्घकालिक बांड, सुरक्षित उत्पादों, मनी मार्केट उपकरणों या फ्लोटिंग रेट वाले ऋण में निवेश कर सकते है। डेट फंड पर शुल्क आमतौर पर इक्विटी फंड की तुलना में कम होता है क्योंकि इनकी कुल प्रबंधन लागत कम होती है।

निवेश को संतुलित करने के लिये

डेट फंड निश्चित आय परिसंपत्ति श्रेणी के अंतर्गत आते हैं और आमतौर पर पोर्टफोलियो के कम जोखिम वाले हिस्सों के लिए सामरिक निवेश के रूप में उपयोग किए जाते हैं। जो लोग पूंजी के संरक्षण की इच्छा रखते हैं या कम जोखिम चाहते हैं ऐसे निवेशकों के लिये यह आदर्श फंड हैं। यदि आपके निवेश का बड़ा हिस्सा शेयर बाजार में इक्विटी फंड में लगा है तो उसके जोखिम को कम करने के लिये आप अपने फोर्टफोलियो में डेट फंड का समावेश कर सकते हैं।

कम रिस्क

निश्चित आय श्रेणी के भीतर डेट फंड विभिन्न जोखिमों की श्रेणीयों में निवेश कर सकते हैं जिनमें जोखिम के स्तर अलग-अलग होते हैं। म्युचूअल फंड का यह रूप आमतौर पर कम से कम जोखिम वाला माना जाता है।

विकल्प

निश्चित आय चाहने वाले निवेशकों के लिये तथा कम जोखिम के साथ आय की मांग करने वाले निवेशकों के लिए डेट फंडों की एक विस्तृत श्रृंखला है। अन्य संपत्ति श्रेणियों के समान निवेशक आम तौर पर इसके कई विकल्पों में निवेश कर सकते हैं।


रिटर्न

डेट फंड में निवेश से पहले किसी भी फंड की तरह इन फंडों के भी पिछले रिटर्न को देख और समझ लेना चाहिये। यह फंड क्योंकि निश्चित आय वाले उत्पादों में निवेश करते हैं इसलिये इनके रिटर्न एक से रह सकते हैं।

आय वितरण

आम तौर पर यह फंड मासिक, तिमाही या वार्षिक डिविडेंड की घोषणा कर सकते हैं। क्योंकि इन्हें छोटी अवधि का निवेश माना जाता है इसलिये इनके आय वितरण की आवृति ज्यादा रहती है।

कौन कर सकते हैं निवेश

जैसा कि हमने पहले बताया कि कोई भी निवेशक अपने पोर्टफोलियो को संतुलित करने के लिये इनमें निवेश कर सकता है। इसके अलावा फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करने वाले भी डेट फंड को एक विकल्प के रूप में देख सकते हैं।

यह था Debt Fund in Hindi आसानी से समझने के लिये।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *