Benefits of Fixed Deposit in Hindi

Benefits of Fixed Deposit in Hindi फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ और क्या हमें इसे करवाना चाहिये। हर किसी का बचत और निवेश का पहला जरिया आमतौर पर फिक्स्ड डिपॉजिट ही होता है। क्योंकि फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करने में किसी प्रकार का जोखिम नहीं होता है और यह निवेश का सबसे आसान साधन है इसी लिये पहली बार निवेश करने वाले अपनी बचत से कुछ बेहतर रिटर्न पाने के लिये एफडी करवाते हैं। यहां आपको बताते हैं फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ और किस तरह के लोगों को इसे करवाना चाहिये।

फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ
Benefits of Fixed Deposit in Hindi फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ

फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है

Benefits of Fixed Deposit in Hindi जब आप किसी निश्चित अवधि के लिए किसी पूर्व निर्धारित ब्याज दर पर बैंक में जमा करते हैं, तो उसे सावधि जमा या एफडी के रूप में जाना जाता है। इसे टाइम डिपॉजिट भी कहते हैं। एक वित्तीय साधन के रूप में सावधि जमा बरसों से बचत करने वालों की पहली पसंद रहा है। जब निवेश की बात आती है तो यह सबसे सुरक्षित विकल्प है। यह सभी की समझ में आसानी से आ जाता है और किसी ऐसे व्यक्ति के लिए शानदार विकल्प है जो पहली बार निवेश कर रहा है। आप यहां विस्तार से फिक्स्ड डिपॉजिट के बारे में पढ़ सकते हैं।

एफडी के लाभ

फिक्स्ड डिपॉजिट सबसे लोकप्रिय वित्तीय उत्पादों में से एक हैं और इसके कई कारण भी हैं। सावधि जमा के कुछ प्रमुख लाभ यहां दिए गए हैं:

गारंटीकृत रिटर्न

निवेश पर वापसी की गारंटी है। एफडी में जमा की गई राशि के अलावा इसमें आपको जमा करने के समय प्रचलित ब्याज दर पर ब्याज मिलेगा। बाजार में उतार-चढ़ाव या ब्याज दरों में कमी आपके निवेश पर रिटर्न को प्रभावित नहीं करेगी। यही कारण है कि ज्यादातर अनुभवी निवेशक भी सावधि जमा में अपने निवेश का एक हिस्सा रखना पसंद करते हैं।

कार्यकाल

सावधि जमा के लिए कार्यकाल बहुत लचीला हो सकता है जो कि ग्राहक की आवश्यकताओं के आधार पर 7 दिनों से 10 साल तक होता है। आप एक ही बैंक में एक ही समय में एक ही या अलग-अलग कार्यकाल के लिए कई सावधि जमा कर सकते हैं। आपको प्रत्येक एफडी के लिए एक अलग रसीद प्राप्त होगी।

अधिक ब्याज

बचत खाते की तुलना में सावधि जमा पर ब्याज की दर बहुत अधिक है। फिक्स्ड डिपॉजिट की अवधि के आधार पर ब्याज दरें बदलती हैं। ज्यादातर लंबे कार्यकाल के एफडी के लिए ब्याज दर अधिक होती है।


ब्याज की गणना

ग्राहक जो ब्याज प्राप्त करना चाहते हैं उसकी आवृत्ति का चयन कर सकते हैं, चाहे वह मासिक, त्रैमासिक या वार्षिक आधार पर हो। यह ग्राहक के लिए आय का एक अन्य स्रोत बन जाएगा। फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज चक्रवृद्धि रूप में गिना जाता है। यहां आप विस्तार से बैंक खातों में ब्याज की गणना कैसे करते हैं यह पढ़ सकते हैं।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए

वरिष्ठ नागरिकों के बीच सावधि जमा बहुत लोकप्रिय है। इसका पहला कारण इसे बनवाना सुगम है, इसमें जोखिम नहीं है और सीनियर सिटिजन को ब्याज दर अधिक मिलती है जो कि साधारण लोगों को मिलने वाले ब्याज से 0.5% से 1% तक अधिक हो सकती है। वरिष्ठ नागरिकों को इसमें ब्याज पर अतिरिक्त कर छूट भी मिलती है।

ऋण

अगर आपको आपातकाल में धन की जरूरत है तो अपने सावधि जमा के आधार पर ऋण लेना आसान है। ग्राहक इसके बदले में क्रेडिट कार्ड  या ओवरड्राफ्ट भी ले सकते हैं। ग्राहक सावधि जमा की मूल राशि का 90% तक उधार ले सकता है। ग्राहक को एफडी के खिलाफ ऋण लेने पर भी ब्याज मिलता रहता है। लिये गये लोन पर ग्राहक को ब्याज देना होता है जो कि बाजार दरों से कुछ कम होगा।

यदि आपका पैसा भी आपने सेविंग एकाउंट में रखा हुआ है तो Benefits of Fixed Deposit in Hindi पढ़ने और फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ जानने के बाद आप भी उसे सेविंग एकाउंट से हटा कर उस राशि का फिक्स्ड डिपॉजिट करवा सकते हैं।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *