Share Bazar » शेयर बाजार सीखें » Finance in Hindi » केवाईसी

KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है

KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है और इसे क्यों भरवाया जाता है ? बैंक में खाता खोलना हो, फिक्स्ड डिपाजिट बनवाना हो, म्यूचुअल फंड खरीदना हो या बीमा लेना हो, आपसे KYC फॉर्म भरवाया जाता है. KYC की जानकारी और इसे क्यों भरवाया जाता है और इसे भरने के लिए कौन कौन से डाक्यूमेंट्स चाहिए होते हैं हिंदी में विस्तार से जानिये.


KYC in Hindi
KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है

KYC full form – Know Your Customer

KYC full form यानि Know your customer जिसे साधारण हिंदी में कहेंगे अपने ग्राहक को जानिये. बैंक तथा वित्तीय कम्पनियाँ इस फॉर्म को भरवा कर इसके साथ कुछ पहचान के प्रमाण भी लेतीं हैं जिसके जरिये वे अपने ग्राहक की पहचान की पुष्टि करते हैं. केवाईसी अपने ग्राहकों की पहचान की पुष्टि के लिए एक व्यापार की प्रक्रिया है. भारतीय रिज़र्व बैंक के द्वारा बैंकों के लिए ग्राहकों से केवाईसी भरवाना अनिवार्य किया गया है.


बैंकिंग प्रणाली का अनुचित प्रयोग ना हो

KYC भरवाने का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि जाने या अनजाने में अपराधिक तत्व बैंकिंग प्रणाली का अनुचित प्रयोग अपनी गतिविधियों के लिए ना कर पायें.  अपराधियों द्वारा नकली पहचान और नकली पते बता कर खाता खोलने की कोई भी कोशिश केवाईसी द्वारा रोकी जा सकती है.

केवाईसी के लिए ज़रूरी काग़ज़ात

बैंक भी अपने ग्राहकों को KYC द्वारा बेहतर तरीके से समझ सकते हैं उनके वित्तीय लेन-देन को समझ उनकी जरूरतों को अच्छे से पूरा कर सकते हैं.  बैंक में केवाईसी के लिए ग्राहक के पहचान, नाम पते की पुष्टि करने के लिए फोटो तथा एड्रेस प्रूफ यानी पते का प्रमाण लिया जाता है.

कहाँ कहाँ चाहिए केवाईसी

बैंक में खाता खोलने के अलावा लोन लेने, लॉकर लेने, क्रेडिट कार्ड बनवाने, म्यूच्यूअल फण्ड खरीदने, पोस्ट ऑफिस RD  तथा बीमा आदि लेने पर KYC फॉर्म भरने की आवश्यकता पड़ सकती है. बैंक में लेनदेन के लिए और खाता खुलवाने के लिए केवाईसी फॉर्म भरना अनिवार्य है. यदि आप यह फॉर्म नहीं भरते हैं तो बैंक आपको खता खोलने से मना भी कर सकता है.

KYC का महत्व

अाप KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है में यह समझ लीजिये कि KYC एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिेसे वित्तीय संस्था जब किसी ग्राहक को कोई वित्तीय सेवा देती है तो ग्राहक की पहचान स्थापित करने में इस दस्तावेज का महत्वपूर्ण रोल है। केवाईसी बैंकिंग प्रक्रियाओं का अनिवार्य और महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह धोखाधड़ी वाले लेनदेन के जोखिम को कम करता है।

केवाईसी के लिये आवश्यक दस्तावेज

निवेशकों को अपने केवाईसी एप्लिकेशन फॉर्म के साथ निम्नलिखित दस्तावेज और पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ जमा करने होंगे।

पहचान प्रमाण: पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट कॉपी, वोटर आईडी, आधार कार्ड या बैंक पासबुक की कॉपी ।

पते का प्रमाण: हाल ही में मिला लैंडलाइन या मोबाइल बिल, बिजली बिल, पासपोर्ट कॉपी, हाल ही की डीमैट अकाउंट स्टेटमेंट, नवीनतम बैंक पासबुक, राशन कार्ड, वोटर आईडी, किराये का समझौता, ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड।

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप केवल बचत खाता ही खोल रहे हैं और बहुत कम राशि जमा करवा रहे हैं. किसी भी बैंकिंग लेन देन के लिए केवाईसी फॉर्म भरना अनिवार्य है. आशा है कि KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है पढ़ने के बाद आपको स्पष्ट हो गया होगा कि केवाईसी क्या है और इसे क्यों भरवाया जाता है।

जरूर पढ़ें हमारे यह पोस्ट

3 thoughts on “KYC Full Form in Hindi – केवाईसी क्या है”

Leave a Comment