Senior Citizen Saving Scheme in Hindi

Senior Citizen Saving Scheme in Hindi सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम के बारे में। वरिष्ठ नागरिकों के लिये तैयार की गयी इस कर बचत योजना में क्या फायदे हैं और यह कैसे काम करती है। सुरक्षित और उच्च रिटर्न के कारण यह योजना रिटायर्ड लोगों में बहुत लोकप्रिय है। विस्तार से जानते हैं इस योजना में कौन निवेश कर सकता है, कितना निवेश कर सकते हैं, इस योजना की अवधि कितनी है और क्या लाभ हैं आसान हिंदी में।

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम
Senior Citizen Saving Scheme in Hindi सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम

वारिष्ठ नागरिक बचत योजना

Senior Citizen Saving Scheme in Hindi सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम जिसे वरिष्ट नागरिक बचत योजना भी कहते हैं रिटायर्ड लोगों को अपना रिटायर्मेंट बैनेफीट निवेश करने का आदर्श विकल्प है। इस योजना में निवेश करके वे ब्याज की आय से अपना खर्च चला सकते हैं। वे चाहें तो इससे मिलने वाले ब्याज को फिर से निवेश कर सकते हैं। यह योजना सरकार द्वारा पोस्ट ऑफिस या चुने हुए बैंको कर जरिये चलायी जाती है औऱ इस पर ब्याज की दर इस प्रकार की अन्य योजनाओं की तुलना में आधिक होती है। इसके साथ ही इस योजना पर टैक्स की बचत भी मिलती है। कुल मिला कर यह रिटायर्ड लोगों के लिये एक आदर्श बचत योजना है। Learn here all the benefits and features of Senior Citizen Saving Scheme in Hindi.

क्यों निवेश करें

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम यानी एससीएसएस में निवेश 60 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों के लिए निवेश करने के लिए एक बहुत अच्छी योजना है। यह एक प्रभावी और दीर्घकालिक बचत योजना है जो सुरक्षा और सुविधाओं की पेशकश करती है जो कि आमतौर पर किसी भी सरकारी बचत या निवेश योजना में प्राप्त होती हैं। ये योजना पूरे भारत में चुने हुए बैंकों और सभी डाकघरों के माध्यम से उपलब्ध हैं।

कौन ले सकते हैं

कोई भी साठ साल से अधिक की उम्र का नागरिक इस योजना में निवेश कर सकता है। 55 की उम्र के बाद यदि किसी ने VRS लिया है तो वे भी इस योजना में निवेश कर सकते हैं मगर इस हालत में उन्हें रिटायर्मेंट बैनेफिट मिलने के एक माह के भीतर ही निवेश करना होगा।

राशि

इस योजना में ₹1000 के गुणकों में निवेश कर सकते हैं किंतु अधिकतम राशी ₹15 लाख तक निवेश की जा सकती है।

लाभ

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम में निम्न लाभ मिलते हैं


सुरक्षा

यह योजना सुरक्षित निवेश चाहने वालों के लिये है और इसमें निवेश करना आसान है।

ब्याज

यह भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही कुछ ऐसी योजनाओं में से है जिनमें अधिकतम ब्याज मिलता है। 1 अक्टूबर 2018 से इस योजना पर 8.7​% की सालाना दर से तिमाही ब्याज मिलता है। ब्याज की यह दर हर तिमाही पर बदल भी सकती है मगर एक बार योजना में निवेश करने के बाद उस समय की ब्याज दर ही पूरी अवधि के लिये लागू रहेगी। निवेशक चाहें तो इसे हर तिमाही अपने डाकघर सेविंग एकाउंट में ट्रांसफर करवा सकते हैं। वे चाहें तो इस योजना से मिलने वाले ब्याज को डाकघर रिकरिंग एकाउंट खुलवा कर उसमें भी ट्रांसफर करवा सकते हें।

कर लाभ

इस योजना में निवेश पर 80 सी के अंतर्गत 1.5 लाख तक आयकर छूट मिलती है। साल में ₹ 50000 तक ब्याज की आय भी इस योजना में टैक्स से मुक्त है।

अवधि

इस योजना की अवधि पांच साल है जिसे कि तीन और सालों के लिये बढ़ाया जा सकता है। परिपक्वता से पहले निकासी एक साल बीत जाने के बाद कर सकते हैं मगर इसके लिये कुल जमा राशि पर 1.5% शुल्क देना होगा। दो वर्ष बीत जाने के बाद यह शुल्क 1% होगा।

कुल मिला कर सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम वरिष्ठ नागरिकों के लिये एक बेहतरीन योजना है जिसमें नियमित और सुरक्षित आय मिलती है जिसके कारण वृद्धावस्था में जीवन यापन आराम से बीताने में मदद मिलती है।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *