बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें

बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें ऑनलाइन मनी ट्रांसफर कैसे करें हिंदी में बताते हैं आपको। यदि अपको भी अपने किसी मित्र, रिश्तेदार या कारोबारी को ऑनलाइन पैसे भेजने हैं तो यहां हम बताते हैं आपको कि पैसे कैसे भेजें, किसी भी बैंक में मनी ट्रांसफर के लिये कौन सी बैंक डिटेल चाहिये होगी और बैंक से पैसे ट्रांसफर करने की प्रक्रिया क्या है। साथ ही समझेंगे क्या है NEFT, RTGS और IMPS और इनके अंतर्गत बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें और क्या  है इनमें अंतर।

बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें
बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें

ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर

आधुनिक तकनीक आधारित बैंकिंग सेवाएं हमें ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा को आसान बनाने में हमारी मदद करती है। जब एक खाते से दूसरे खाते में धन हस्तांतरण की बात आती है, तो अधिकांश बैंक विभिन्न कारकों और ग्राहक की आवश्यकताओं के आधार पर कई विकल्प प्रदान करते हैं। वर्तमान में बैंक नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT), रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS), तत्काल भुगतान सेवा यानी इमीजेट पेमेंट सर्विस (IMPS) इत्यादि जैसी कई मनी ट्रांसफर की सुविधायें प्रदान करते हैं। हालांकि उनमें से प्रत्येक के अपने फायदे और नुकसान हैं, लेकिन वे ग्राहकों को लचीलापन और सुविधा प्रदान करते हैं। इसके अलावा, कई बैंकों के पास फंड ट्रांसफर के अतिरिक्त तरीकों की सुविधा के लिए ऑनलाइन डिजिटल वॉलेट भी उपलब्ध हैं।

डिजिटल रूप से लेनदेन

वर्तमान में भारतीयों के पास कई फंड ट्रांसफर विधियों का चयन करने के विकल्प उपलब्ध हैं। नवीनतम तकनीक तक पहुंच और ऑनलाइन-आधारित सेवाओं की बढ़ती मांग ने इन्हें बहुत उपयोगी बना दिया है। नवीनतम तकनीक के अत्यधिक उपयोग ने लगभग हर किसी को अपने ग्राहक, भागीदारों, विक्रेताओं, आदि के बीच की दूरी को कम करने में मदद की है। ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं की बढ़ती संख्या को ध्यान में रखते हुए हम मान सकते हैं कि लोग डिजिटल रूप से लेनदेन करना पसंद करते हैं और ऑनलाइन पैसा भेजना पसंद करते हैं। ऑनलाइन फंड स्थानांतरण केवल तेज़, कुशल और सुविधाजनक नहीं हैं, बल्कि लेखांकन और दस्तावेज़ीकरण उद्देश्यों के लिए भी उपयोगी हैं। अन्य तरीकों जैसे कि चेक से भुगतान के विपरीत, ऑनलाइन हस्तांतरण विश्वसनीय है और कम लागत में तथा कम समय में हो जाता है।

NEFT, RTGS या IMPS

NEFT, RTGS या IMPS में से चाहे कौन सी प्रणाली का उपयोग किया जा रहा हो वे विश्वासनीय  पैसे ट्रांसफर करने की विधियों के रूप में कार्य करते हैं जो व्यक्तियों को किसी भी समय और कहीं भी ऑनलाइन स्थानांतरित करने की अनुमति देते हैं। आजकल ज्यादातर बैंक अपने ग्राहक को नेट बैंकिंग सुविधा प्रदान करते हैं। इंटरनेट या कंप्यूटर के साथ एक स्मार्टफोन का उपयोग करके, बैंक खाता धारक बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली किसी भी ऑनलाइन बैंकिंग सेवाओं तक पहुंचने के लिए फंड ट्रांसफर सेक्शन का उपयोग कर सकता है।

बैक डिटेल

जब यह सवाल सामने हो कि बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें तो हमारे पास बहुत से विकल्प उपलब्ध हैं। डिजीटल वॉलेट, यूपीआई, NEFT, RTGS या IMPS जैसे फंडों के ऑनलाइन हस्तांतरण के लिए कई प्रणालियां सबसे आम और अत्यधिक उपयोग की जाने वाली विधियां हैं।फंड ट्रांसफर शुरू करने के लिए जो व्यक्ति धन हस्तांतरण कर रहा है जिसे प्रेषक भी कहा जाता है, के पास लाभार्थी का बैक डिटेल होना आवश्यक है। खाता संख्या, खाते पर लाभार्थी का नाम, आईएफएससी IFSC कोड, और शाखा का नाम जैसे विवरण किसी भी ट्रांसफर विधी का उपयोग करने के लिए पता होने चाहिय़ें। ध्यान रहे कि इनमें से किसी में भी कोई गलती हुई तो पैसे ट्रांसफर करने में समस्या हो सकती है।

NEFT, RTGS और IMPS में अंतर

बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें और NEFT, RTGS और IMPS में से कौन सी विधी अपनायें इसे यहां समझते हैं।


NEFT

नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर के तहत स्थानांतरित धनराशि बैचों में निपटाई जाती है, इसे डीफरर्ड नेट सेटलमेंट कहते हैं और दिन के एक विशिष्ट समय पर यह बैच काम करते हैं। यदि ट्रांसफर आरबीआई द्वारा निर्दिष्ट कट ऑफ समय के बाद किया जाता है तो धन आमतौर पर अगले कार्य दिवस पर भेजा जाता है। वर्तमान में NEFT के तहत फंड ट्रांसफर अनुरोध सप्ताह के दिनों में सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे के बीच बारह बैचों में और शनिवार को सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच छह बैचों में निपटाया जाता हैं। रविवार और बैंक में छुट्टियों के दिन NEFT उपलब्ध नहीं होता है। NEFT के सबसे बड़े फायदों में से एक है कम लागत। एक व्यक्ति लेनदेन शुल्क और सेवा शुल्क के बारे में चिंता किए बिना छोटी राशी का हस्तांतरण कर सकता है। NEFT ऑनलाइन फंड हस्तांतरण के लिए सबसे लोकप्रिय और व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली विधि है। NEFT में कितनी भी राशी ट्रांसफर की जा सकती है, इसके लिये कोई सीमा नहीं है। हमारी साइट पर नेफ्ट के बारे में हिंदी में विस्तार से पढ़िये।

RTGS

जैसा कि नाम से स्पष्ट है रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट तुरंत पैसों को ट्रांसफर करता है। आरटीजीएस के अंतर्गत 2 लाख से 10 लाख रुपये के बीच फंड ट्रांसफर किया जा सकता हैं। RTGS का सबसे बड़ा लाभ इसकी स्पीड है क्योंकि RTGS में वास्तविक समय में तुरंत निपटान किया जाता है। जैसे ही स्थानांतरण निर्देश भेजे जाते हैं, फंड लगभग तुरंत पहुंच जाता है। हालांकि आरटीजीएस सुविधा का लाभ उठाने के लिए भेजने वाले और लाभार्थी दोनों के खातों को आरटीजीएस-सक्षम होना चाहिए। आरटीजीएस के तहत लेनदेन शुल्क अन्य तरीकों से पैसे भेजने के मुकाबले अधिक है क्योंकि RTGS में बड़ी राशी भेजी जाती है और नोपटान तुरंत किया जाता है।

IMPS

आईएमपीएस – फंड ट्रांसफर के लोकप्रिय और सबसे तेज़ तरीकों में से एक है और अधिकांश बैंकों में आईएमपीएस व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। फंड ट्रांसफर के अन्य तरीकों के विपरीत जो बैंक छुट्टियों पर और छुट्टी के घंटों के दौरान उपलब्ध नहीं होते हैं, आईएमपीएस दिन के किसी भी समय फंड हस्तांतरण की अनुमति देता है। एनईएफटी के समान, आईएमपीएस भी कम धनराशि के हस्तांतरण की अनुमति देता है लेकिन साथ ही IMPS के अंतर्गत तुरंत धन ट्रांसफर हो जाता है। IMPS में केवाल दो लाख रुपये तक ही ट्रांसफर किये जा सकते हैं।

आज हमने समझा कि बैंक से पैसे कैसे ट्रांसफर करें और वास्तव में जाना कि ऑनलाइन  फंड  भेजना कितना आसान है। साथ ही समझ में आ गया कि NEFT, RTGS और IMPS क्या हैं और इनमें क्या अंतर हैं।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *