शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ

शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ जिनसे आप जान सकें शेयर बाज़ार की भाषा जिससे कि आपको इस बाज़ार और इसकी गतिविधियों को समझने में आसानी होगी। कई प्रकार के शब्द जो कि शेयर बाजार में प्रयोग किए जाते हैं बाजार कि ट्रेडिंग के बारे में, शेयरों के बारे में या कम्पनियों के बारे में जिनका अर्थ हमें मालूम नहीं होता है। आज समझेंगे शेयर बाजार की भाषा जिससे इस बाजार को समझने में और भी आसानी होगी। शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाली शब्दावली आपको मज़ेदार भी लगेगी और इसे समझे बिना बाजार को समझना नामुमकिन सा भी है। शेयर बाजार के बारे में अधिक जानकारी और अन्य पहलुओं को जानने के लिये Share Market in Hindi विस्तार से पढ़ें।

शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ
शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ

शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ

कई बार हम जब टीवी पर कोई बिजनेस चैनल देखते हैं या कोई वित्त सम्बंधी लेख या समाचार पढ़ते हैं तो हमें ऐसे शब्दों का सामना करना पड़ता है जिनके प्रयोग शेयर बाजार में होते हैं मगर हम उनका अर्थ समझ नहीं पाते। इसी का ध्यान रखते हुए हम यहाँ दे रहे हैं शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ। चलिए देखते हैं कुछ सबसे महत्वपूर्ण शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ जिन्हें समझना आपके लिए ज़रूरी है यदि आप शेयर बाजार को सीखना चाहते हैं।

वार्षिक रिपोर्ट Annual Report

वार्षिक रिपोर्ट में कम्पनी की वार्षिक वित्तीय स्थिति का उल्लेख होता है जिसे शेयर होल्डरों के लिए तैयार किया जाता है। इसमें कम्पनी की बैलेन्स शीट  के अलावा बहुत सारी जानकारी होती है, फ़ंड फ़्लो यानी नक़दी प्रवाह, आने वाले वर्षों के लिए ग्रोथ टार्गेट और मनेजमेंट की नीतियाँ आदि। कम्पनी की वार्षिक रिपोर्ट पढ़ कर कम्पनी  की वित्तीय स्थिति का निर्धारण करना आसान हो जाता है।

आर्बिट्रेज Arbitrage

आर्बिट्रेज अलग-अलग बाजारों और अलग-अलग मूल्यों पर समान खरीदने और बेचने को कहते हैं। उदाहरण के लिए यदि स्टॉक एक बाजार में 100 रुपए में मिल रहा है और दूसरे पर 105 रुपए पर कारोबार कर रहा है तो व्यापारी उन शेयरों को ₹100 में खरीद सकता है और दूसरे बाजार पर ₹105 के लिए बेच सकता है। इसी क़ीमत में अंतर की कमाई को आर्बिट्रेज कहेंगे।

बीयर मार्केट Bear Market

मंदे  बाज़ार को बीयर मार्केट कहते हैं। जब बाज़ार में क़ीमतें नीचे की और जा रहीं हों और हर तरफ़ निराशा का वातावरण हो तो उसे बीयर मार्केट कहेंगे।

बीटा Beta

किसी शेयर की क़ीमत बाज़ार की तुलना में कैसे बदलती है उस नाप को बीटा कहते हैं। जिन शेयरों की क़ीमतें बाज़ार के साथ साथ चलतीं हैं वे कम बीटा वाले शेयर होते हैं और जो शेयर बाज़ार की दिशा के अनुसार तेज़ी से चलते हैं उन्हें अधिक बीटा वाले शेयर कहा जाता है। उदाहरण के लिए यदि बाज़ार 1% बढ़े मगर किसी कम्पनी का शेयर 5% बढ़े तो उस कम्पनी का बीटा हुआ 5. इसी प्रकार गिरते हुए बाज़ार में भी बाज़ार की तुलना में किसी शेयर की क़ीमत कितनी गिरी उससे उसका बीटा वैल्यू गिनी जाएगी। आम तौर पर कम बीटा वाले शेयरों को अधिक सुरक्षित शेयर माना जाता है और अधिक बीटा वाले शेयरों को जोखिम वाला भी माना जा सकता है।

ब्लू चिप Blue Chip

जब हम शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ लिखने बैठे तो सबसे पहले जो शब्द ध्यान में आया वो था ब्लू चिप। आम तौर पर अपने उद्योग में अग्रणी और बड़ी कम्पनियाँ ब्लू चिप कहलातीं हैं जिनका लगातार शानदार रिकार्ड रहा हो और प्रबंधन मज़बूत हो। ब्लू चिप आम तौर पर कैसिनो में सबसे अधिक वैल्यू के चिप होते हैं इसी लिए बेहतर प्रदर्शन करने वाले शेयरों के लिए भी यह नाम पड़ा। शेयर मार्केट में अलग अलग रंगों का महत्व भी पढ़िये।

बुल मार्केट Bull Market

जब हर तरफ़ तेज़ी हो और बाज़ार में उत्साह का माहौल हो तो उसे बुल मार्केट कहेंगे। आप यहाँ शेयर बाजार में बुल और बेयर का मतलब विस्तार से पढ़ सकते हैं।

ब्रोकर Broker

कम्पनी या व्यक्ति जो हमारे लिए बाज़ार में ख़रीद फ़रोख़्त करे और उसके बदले में कमीशन ले उसे ब्रोकर कहते हैं। ब्रोकर को दी जाने वाली कमीशन ब्रोकरेज कहलाती है।

बिड, आस्क और स्प्रेड Bid, Ask and Spread

बिड या बोली वह क़ीमत जिसके बदले में कोई ख़रीदार कसी शेयर को खरीदने के लिए तैयार होता है। आस्क प्राइस वह क़ीमत होती है जिस पर कोई शेयर होल्डर अपने शेयर को बेचने को तैयार होता है। आस्क और बीड के अंतर को स्प्रेड कहा जाता है।

डे ट्रेडिंग Day Trading

एक ही दिन में बाज़ार बंद होने से पहले सौदे को बेचना और ख़रीदना डे ट्रेडिंग कहलाता है। बहुत से लोग डे ट्रेडिंग करते हैं हालाँकि इसमें काफ़ी जोखिम रहता है। जो लोग डे ट्रेडिंग करते हैं उन्हें डे ट्रेडर्ज़ कहते हैं।


डिवीडेंड Dividend

डिवीडेंड या लाभांश कम्पनी के लाभ के उस हिस्से को कहते हैं जो कम्पनी शेयर होल्डरों को  देती है। विस्तार से डिवीडेंड के बारे में यहाँ पढ़ें।

एक्सेक्यूशन या क्रियान्वयन Execution

जब खरीदने या बेचने का आदेश पूरा हो जाता है तो बाज़ार ने लेनदेन का क्रियान्वयन कर दिया है। यदि आप 100 शेयर बेचने का आदेश देते हैं, तो इसका मतलब है कि सभी 100 शेयर बिक गए हैं।

सेन्सेक्स Sensex

मुंबई स्टॉक एक्स्चेंज के संवेदी सूचकांक को सेंसेक्स  कहते हैं। तीस शेयरों पर आधारित यह सूचकांक बाज़ार की गति और दिशा का सूचक है।

निफ़्टी Nifty

नैशनल स्टॉक एक्स्चेंज के सूचकांक को निफ़्टी कहते हैं। पचास प्रमुख शेयरों पर आधारित निफ़्टी नैशनल स्टॉक एक्स्चेंज की गति को दर्शाता है।

आईपीओ Initial Public Offering (IPO)

आईपीओ जनता के लिए कंपनी द्वारा स्टॉक की पहली बिक्री या पेशकश है। यहाँ आईपीओ के बारे में हिंदी में आप विस्तार से पढ़ सकते हैं।

मूविंग ऐव्रिज Moving Average

एक विशिष्ट अवधि के दौरान एक स्टॉक की औसत मूल्य-प्रति-शेयर को उसका मूविंग ऐव्रिज कहा जाता है। स्टॉक के मूविंग ऐव्रिज में अध्ययन करने के लिए कुछ आम समय फ्रेम में 50 और 200 दिन मूविंग ऐव्रिज क़ीमत होती हैं।

पोर्टफोलियो Portfolio

एक निवेशक ने कितनी सिक्युरिटीज़ में निवेश किया है उन सब के संग्रह को पोर्टफोलियो कहेंगे। फिर चाहे उसमें एक ही शेयर हो या कई शेयर या अन्य प्रतिभूतियां।

सर्किट ब्रेकर

सर्किट ब्रेकर शेयरों की कीमतों और सूचकांकों पर लगाया जाता है। यह कीमतों में गिरावाट के खतरे को कम करता है।

शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ की जानकारियाँ आपको एक बेहतर निवेशक बनने में मदद करेंगी। मैंने यहाँ इन्हें आसान हिंदी में समझने की कोशिश की है जिससे नए निवेशकों को भी शेयर बाज़ार की शब्दावली समझने में कठिनाई ना हो।


One thought on “शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले शब्द और उनके अर्थ

Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *