ईपीएफ क्या है

ईपीएफ क्या है एम्लोयीज़ प्रोविडेंट फण्ड Employees’ Provident Fund या कर्मचारी भविष्य निधि क्या होता है? यह कैसे काम करता है, ईपीएफ के क्या फायदे हैं और ईपीएफ का बैलेंस कैसे चेक करें यह सब जानकारी आसान हिंदी में. कर्मचारियों के लिए चलायी जा रही इस योजना में कैसे एक कर्मचारी आसानी से अपने भविष्य के लिए बचत कर सकता है और ईपीएफ का इनकम टैक्स पर क्या असर होता है?

EPF in Hindi ईपीएफ क्या है
EPF in Hindi ईपीएफ क्या है

ईपीएफ क्या है

कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को रिटायरमेंट बेनिफिट पहुंचाने के लिए और बेहतर तरीके से बचत करने का साधन है जिसमें आम जमा योजनाओं से बेहतर ब्याज मिलता है और इनकम टैक्स पर भी छूट मिलती है. इस योजना में आपका एम्प्लायर भी अपना योगदान करता है और आपकी सैलेरी में से भी योगदान काटा जाता है. रिटायरमेंट के समय ब्याज सहित एक मुश्त राशि आपको मिल जाती है.

भविष्य के लिए बचत

कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) कर्मचारियों के लिए एक बचत उपकरण है यह कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम के तहत कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) द्वारा प्रबंधित एक योजना है. ईपीएफ योजना के तहत, किसी कर्मचारी को अपने वेतन में से एक निश्चित प्रतिशत का भुगतान करना पड़ता है और नियोक्ता यानी एम्प्लायर द्वारा एक समान राशि का योगदान इस योजना में किया जाता है.

ईपीएफ के फायदे

कर्मचारी को रिटायरमेंट पर या नौकरी बदलने के दो महीने बाद ब्याज के साथ एक एकमुश्त राशि (जिसमें वह खुद और नियोक्ता के योगदान शामिल हैं) मिल जाती है. वर्ष 2016-17 के लिए ईपीएफ की ब्याज दर 8.65 फीसदी है। फिलहाल बैंक फिक्स्ड डिपाजिट के मुकाबले ईपीएफ की ब्याज दर बेहतर है. ईपीएफ पर अर्जित ब्याज कर-मुक्त है। वास्तव में ईपीएफ में योगदान को भी टैक्स देने से पहले कर योग्य आय से घटाया जाता है। जानिये अन्य टैक्स सेविंग स्कीम कौन कौन सी हैं।


यूनिवर्सल अकाउंट नंबर

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) की साईट पर आप ऑनलाइन अपने आधार कार्ड का उपयोग करके एक यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) स्वयं बना सकते हैं। यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) पीएफ अकाउंट्स की पोर्टेबिलिटी को एक नियोक्ता से दूसरे तक ले जाती है, बिना अपने नियोक्ता के जरिए इसे रूट करने के. अर्थार्त जब आप अपना जॉब किसी एक एम्प्लायर के यहाँ छोड़ कर दूसरी जगह ज्वाइन कर लेते हैं तो आप अपना ईपीएफ बैलेंस नए ईपीएफ अकाउंट में ट्रान्सफर कर सकते हैं. इसके लिए आपको पिछले एम्प्लॉयी के पास जाने की आवश्यकता नहीं है.

ईपीएफ का बैलेंस कैसे चेक करें

अब एक कर्मचारी और ईपीएफओ के सदस्य के रूप में, अपना बैलेंस जानने के लिए आपको अपने नियोक्ता से साल के अंत में भविष्य निधि (पीएफ) स्टेटमेंट साझा करने के लिए इंतजार नहीं करना पड़ता है आप अपने घर या ऑफिस के आराम से किसी भी समय ईपीएफओ पोर्टल, ऐप, एसएमएस या मिस्ड कॉल देकर अपना पीएफ बैलेंस देख सकते हैं।

यहाँ हमने आसान हिंदी में EPF in Hindi ईपीएफ क्या है यह समझाने की कोशिश की है. आशा है इसे पढ़ कर ईपीएफ के बारे में आपको जानकारी मिली होगी और कई आशंकाएं भी दूर हुई होंगी.


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *