Share Bazar » शेयर बाजार सीखें » Investment » NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट

NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट

NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट अधिक ब्याज के लिये किया जाता है मगर क्या यह सुरक्षित है, क्या हमें नॉन बैंकिंग फायनांस कंपनीज़ में फिक्स्ड डिपॉजिट करवाना चाहिये? NBFC बैंकों के मुकाबले फिक्स्ड डिपॉजिट अधिक ब्याज देतीं हैं पर क्या यह निवेश के लिये सुरक्षित होतीं हैं, क्या हमें इनमें निवेश करना चाहिये? आज इस पर विस्तार से बात करते हैं।


NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट
NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट

बचत का आदर्श साधन

सावधि जमा विशेष रूप से बैंक एफडी कम से कम जोखिम के साथ निश्चित रिटर्न चाहने वाले लोगों के लिए आदर्श बचत का साधन रहे हैं। हालांकि इन दिनों सावधि जमा में निवेश करने वाले अधिकांश निवेशक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) जैसे कि महिंद्रा फाइनेंस, बजाज फाइनेंस इत्यादि जैसी कम्पनियों के एफडी ले रहे हैं क्योंकि शायद वे अपने एफडी पर बैंकों की तुलना में ज्यादा रिटर्न दे रहे हैं।


अधिक ब्याज

मिसाल के तौर पर, भारतीय स्टेट बैंक – भारत का सबसे बड़ा बैंक – अपने एफडी पर 6.75% ब्याज की पेशकश 2 से 3 साल की अवधी के लिये कर रहा है, महिंद्रा फाइनेंस 8.75% की पेशकश कर रहा है और बजाज फाइनेंस अपने एफडी पर 8.15% ब्याज दे रहा है। जाहिर है, एनबीएफसी द्वारा प्रस्तावित एफडी रिटर्न देखने में बैंक से अधिक आकर्षक लगते हैं। हालांकि क्या वे आपके लिए भी अच्छे हैं इसे समझते हैं। यह ब्याज की दरें आज अक्तूबर 17, 2018 को इनकी वेब साइट से ली गईं हैं। इसी तरह और भी कई गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां हैं जो कि बैंकों से ज्यादा ब्याज देतीं हैं।

ध्यान रखने योग्य बातें

एनबीएफसी, बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट से अधिक रिटर्न की दर प्रदान करतीं हैं और समझदारी से चयन किया जाये तो निश्चित रिटर्न चाहने वाले निवेशकों के लिए ये एक अच्छा विकल्प हैं। मगर निवेशकों को ध्यान में रखना आवश्यक है कि ये जमा बैंकों के मुकाबले उतने सुरक्षित नहीं हैं और इसलिए यह  डिफ़ॉल्ट रूप से जोखिम लिये हो सकते हैं। इसलिए उच्च निश्चित रिटर्न प्राप्त करने की कोशिश करते समय निवेशकों को कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।

ट्रेक रिकॉर्ड और मजबूती

NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट करवाते समय ध्यान रखें कि गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी का ट्रेक रिकॉर्ड अच्छा हो और वर्षों से कंपनी सर्वोत्तम प्रदर्शन करने वाली रही हो। साथ ही NBFC चुनने के समय यह देखना आवश्यक है कि कंपनी बहुत मजबूत व्यापार समूह द्वारा संचालित हो। ध्यान देने वाली बात यह है कि अधिक ब्याज दर की वजह से कमजोर कंपानियों में निवेश किया जाये या नहीं। क्योंकि यदि कंपनी किसी आर्थिक संकट में फंसती है तो आपके द्वारा निवेशित पैसा डूबने का खतरा भी हो सकता है।

अन्य कारक

किसी भी एफडी के लिए चाहे वो बैंक में हो या एनबीएफसी में आपको ब्याज दर के अलावा अतिरिक्त कारकों को भी देखना चाहिये। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, आपको पैसे की निकासी और परिपक्वता से पहले के बारे में भी सोचना चाहिये। क्योंकि एफडी चुनने वाले निवेशक उच्च तरलता चाहते हैं। दूसरा यह सलाह दी जाती कि आप इस तरह के जमा के लिए क्रेडिट रेटिंग भी देखें और अच्छी रेटिंग वाले डिपॉजिट का ही चयन करें।

तो यहां तो हम यही सलाह देंगे कि NBFC में फिक्स्ड डिपॉजिट करवाते समय इन सब बातों का ध्यान रखें और अधिक ब्याज के साथ सुरक्षित रिटर्न भी पायें।

जरूर पढ़ें निवेश पर हमारे यह पोस्ट

Leave a Comment