एन्युटी प्लान कैसे चुनें

एन्युटी प्लान कैसे चुनें जिससे जीवन के सुनहरे समय यानी रिटायरमेंट के समय आप चैन और सुख की जिंदगी जी सकें बिना वित्तिय परेशानियों और चिंताओं के। बेहतर एन्युटी चुनने के लिए कैसे और कौन कौन से मानदंड होने चाहियें क्योंकि एक बार फैसला हो जाने के बाद उसे बदलना कठिन होता है। बेहतर एन्युटी प्लान का चुनाव कैसे करें यह सब विस्तार से यहां बता रहे हैं आसान हिंदी में। यहां पढ़ें एन्युटी और पेंशन योजनाओं के बारे में हमारी साइट पर। How to select Annuity Plan in Hindi.

एन्युटी प्लान कैसे चुनें
एन्युटी प्लान कैसे चुनें

एन्युटी चुनने के लिए मानदंड

How to select Annuity Plan in Hindi किसी भी वित्तीय उत्पाद की तरह एन्युटी को चुनने के लिये प्रमुख पैरामीटर सुरक्षा, रिटर्न, और तरलता हैं। एन्युटी चुनते समय आपको ध्यान रखना है कि रिटायरमेंट के बाद इसी से मिलने वाले रिटर्न पर ही आपको निर्भर रहना पड़ सकता है। एन्युटी प्लान कैसे चुनें इसके लिए मुख्य मानदंड यहां दिये गये हैं।

सुरक्षा

सुरक्षा का पहलू किसी भी एन्युटी को चुनने में सर्वोपरि है क्योंकि यह बेहद लंबे समय तक चलने वाली योजना हैं। एन्युटी खरीदने वाला व्यक्ति सेवानिवृत्ति से पहले लंबे समय तक बीमा कंपनी को भुगतान किए गए प्रीमियम के माध्यम से नियमित रूप से बचत करता है। वह सेवानिवृत्ति पर वह उम्मीद करता हैं कि एन्युटी का भुगतान वापस 20-30 साल के लिए तो जारी रहेगा ही।

कंपनी की वित्तीय स्थिति

इसका मतलब है कि एन्युटी प्रदान करने वाली कंपनी उन देनदारियों को पूरा करने की स्थिति में होनी चाहिए जो कई कारणों से बदल सकते हैं जैसे लंबी उम्र बढ़ना, ब्याज दरें घटना, मुद्रास्फीति इत्यादि। इसलिए एन्युटी प्रदान करने वाली कंपनी की आर्थिक मजबुती महत्वपूर्ण है। कंपनी की वित्तीय स्थिति जितनी अधिक अच्छी होगी उतना ही बेहतर होगा।


रिटर्न

सुरक्षा के बाद रिटर्न की भूमिका महत्वपूर्ण हैं क्योंकि एन्युटी बहुत लंबे समय जारी रहने वाली योजना हैं। ज्यादातर कंपनियां रिटर्न देने के मामले में संकीर्ण होतीं हैं। ये कंपनियां ग्राहकों को अर्जित रिटर्न पूरी तरह से पास नहीं करती हैं लेकिन अचानक पड़ने वालि जरूरतों को पूरा करने के लिए रिजर्व के रूप में कमाई का एक बड़ा हिस्सा अपने पास बरकरार रखती हैं। यह संकीर्ण दृष्टिकोण उन लोगों के हितों के लिए हानिकारक हो सकता है जो पूरी तरह से अपने व्ययों का भुगतान करने के लिए एन्युटी की आय पर निर्भर करते हैं। चूंकि मुद्रास्फीति रिटर्न के वास्तविक मूल्य को कम कर देती है इसलिए कम रिटर्न बढ़ती उम्र में कठिनाईयों का कारण बन सकते हैं।

लिक्विडिटी

पेंशन पॉलिसी चुनते समय लिक्विडिटी को ध्यान में रखना भी जरूरी है। इनकी संरचना के कारण एन्युटी प्लान बहुत तरल नहीं होते हैं और फिक्स्ड डिपॉजिट, जीवन बीमा पॉलिसी या म्यूचुअल फंड इकाइयों की तरह इन में से निकासी नहीं की जा सकती है। कभी अचानक होने वाली वित्तीय आवश्यकता आपको मुश्किल में डाल सकती है। महत्वपूर्ण परिस्थितियों में आंशिक निकासी कि संभावना आपके एन्युटी प्लान को बेहतर विकल्प बना सकती है। हालांकि सामान्य रूप से एन्युटी प्लान से पैसा ना निकालने की सलाह ही दी जाती है।

अन्य कारक

उत्पाद सुविधाओं या प्रचारों से अलग, एन्युटी प्रदाता के पिछले ट्रैक रिकॉर्ड को देखना इसे चुनने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। इंडस्ट्री ट्रैक रिकॉर्ड, पिछले सालाना रिटर्न और कंपनी की मौजूदा वित्तीय ताकत एन्युटी प्लान कैसे चुनें यह निर्णय लेने के कुछ प्रमुख कारक हो सकते हैं।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *