डाक घर बचत योजनाएँ

डाक घर बचत योजनाएँ उनके लाभ, नियम और विशेषताएं। यह सरकार द्वारा चलायीं गयीं छोटी बचत योजनाएँ हैं जो कि लोगों में बचत को बढ़ावा देने के लिए चलायी जातीं हैं। ये योजनाएँ सभी डाक घरों में उपलब्ध हैं और कोई भी अपने नज़दीकी डाक घर में जा कर ऐसी किसी भी बचत योजना में जा कर अपने पैसे की बचत कर सकता है। इन योजनाओं पर सरकार ब्याज दर का निर्धारण करती है जिनकी घोषणा हर तीसरे महीने की जाती है। यहाँ जानेंगे  कि डाक घर बचत योजनाएँ कौन कौन सी हैं और उनके लाभ क्या हैं, नियम क्या हैं, विशेषताएं क्या हैं और उन्हें कैसे और कौन खुलवा सकता है।

डाक घर बचत योजनाएँ
डाक घर बचत योजनाएँ

क्योंकि बैंकों से ज़्यादा हमारे देश में डाक घर फैले हुए हैं इसी लिए डाक घर बचत योजनाएँ हर वर्ग के लिए हर जगह उपलब्ध हैं। क्योंकि डाक घर दूर दराज़ के क्षेत्रों और गावों में भी खुले हुए हैं इसीलिए यह योजनाएँ हर किसी को सहजता से उपलब्ध हो जातीं हैं। वास्तव में डाक घर बचत योजनाएँ गावों और शहरों तथा हर वर्ग में सामान रूप से लोकप्रिय हैं फिर इनके साथ डाक घर वाला विश्वास भी जुड़ा हुआ है। सरकार भी इन योजनाओं को बढ़ावा देती है जिससे देश में बचत का माहौल बने और लोगों में बचत करने की प्रवृति को बढ़ावा मिले। इसके लिए सरकार कई डाक घर बचत योजनाओं में करों पर छूट भी देती है।

डाक घर बचत खाता

डाक घर बचत खाता केवल 20 रुपए नक़द दे कर खुलवाया जा सकता है। बिना चैक की सुविधा के साथ खाते में मिनिमम बैलेन्स 50 रुपए रखना होता है। चैक की सुविधा लेने वालों को खाते में मिनिमम बैलेन्स 500 रुपए रखना होता है। डाक घर बचत खाते पर दस हज़ार रुपये तक का ब्याज टैक्स फ़्री है। इन खातों पर नॉमिनेशन सुविधा उपलब्ध है। खाता धारक अपने खाते को किसी भी दूसरे डाक घर में ट्रान्स्फ़र करवा सकता है। यह खाता नाबालिग़ के नाम से भी खुलवाया जा सकता है। दस वर्ष से ज़्यादा आयु का नाबालिग़ स्वयं अपना डाक घर बचत खाता चला सकता है। दो या तीन लोगों के नाम से संयुक्त खाता भी खोला जा सकता है।

खाते को सक्रिय रखने के लिए तीन वित्तीय वर्षों में जमा या निकासी का कम से कम एक लेनदेन आवश्य होना चाहिए। डाक घर बचत खातों पर ATM की सुविधा भी उपलब्ध है।

डाक घर अवृति जमा खाता

डाक घर अवृति जमा खाता हर महीने कम से कम 10 रु की रक़म से खोल सकते हैं। इसे 5 के गुणक में बढ़ा सकते हैं। 1 अक्टूबर 2018 से डाक घर अवृति जमा खाते पर ब्याज की दर 7.3% होगी जो कि प्रति तिमाही चक्रवृधि तरीक़े से गिनी जाती है। सरकार हर तीसरे महीने नए ब्याज की दर घोषित करती है। एक बार खाता खुल जाने के बाद समान ब्याज की दर ही मिलती है। यह खाता पाँच वर्ष के लिए खुलता है। विस्तार से यहाँ डाक घर अवृति जमा खाते के बारे में पढ़ सकते हैं।

डाक घर फ़िक्स्ड डिपॉज़िट

डाक घर फ़िक्स्ड डिपॉज़िट एक वर्ष, दो वर्ष, तीन वर्ष और पाँच वर्ष के लिए खुलवाया जा सकता है। इसे कम से कम 200 रुपए या इसके गुनकों में खुलवाया जा सकता है। अलग अलग समय अवधि के लिए ब्याज दर अलकग अलग है। 1 अक्टूबर 2018 से एक वर्ष के लिए 6.9%, दो वर्ष के लिए 7 %, तीन वर्ष के लिए 7.2% और पाँच वर्ष के लिए 7.8% प्रति वर्ष होगा। ब्याज सालाना देय होता है पर ब्याज की गणना तिमाही की जाती है। इन खातों पर नॉमिनेशन सुविधा उपलब्ध है।

डाक घर मासिक आय योजना

जैसा कि नाम से ही ज़ाहिर है डाक घर मासिक आय योजना में मासिक ब्याज मिलता है। यह खाता उन लोगों के लिए है जो एक मुश्त रक़म जमा करवाना चाहते हैं। रिटायर्ड लोगों के लिए यह बचत योजना आदर्श है।


1 अक्टूबर 2018 से इस योजना पर ब्याज की दर 7.7% प्रति वर्ष है। यह खाता 1500 रुपए या इसके गुनकों में खुलवा सकते हैं। इस खाते में अकेले खाता धारी  की अधिकतम जमा की सीमा 4.5 लाख और संयुक्त खाते में जमा की अधिकतम सीमा 9 लाख रुपए है। इन खातों पर नॉमिनेशन सुविधा उपलब्ध है। डाक घर मासिक आय योजना की परिपक्वता अवधि 5 साल है।

राष्ट्रीय बचत पत्र

1 अक्टूबर 2018 से इस योजना पर ब्याज की दर 8% प्रति वर्ष है जो कि हर वर्ष चक्रवृधि गिना जाएगा और परिपक्वता पर देय होगा। राष्ट्रीय बचत पत्र 100 रुपए या इसके गुनकों में लिया जा सकता है। जमा की गयी राशि कर छूट के लिए आईटी अधिनियम के 80 सी धारा में मान्य होगी। राष्ट्रीय बचत पत्र योजना की परिपक्वता अवधि 5 साल है।

किसान विकास पत्र

1 अक्टूबर 2018 से इस योजना पर ब्याज की दर 7.7% प्रति वर्ष है और इन ब्याज दरों पर किसान विकास पत्र में जमा राशि 112 महीने में दो गुणी हो जाती है। केवीपी किसी भी विभागीय डाकघर से खरीदा जा सकता है। इस योजना पर नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।

सुकन्या समृद्धि खाता

कोई भी अभिभावक अपनी बेटी के नाम से सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकता है। 1 अक्टूबर 2018 से इस योजना पर ब्याज की दर 8.5% प्रति वर्ष है जो कि हर वर्ष चक्रवृधि गिना जाएगा। यह खाता 1000 रुपए से और इससे अधिक 100 रुपए के गुनकों में खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाता दस वर्ष तक की आयु से पहले खुलवाया जा सकता है। बेटी की आयु 21 वर्ष होने पर खाता बंद करवाया जा सकता है। बेटी की आयु 18 वर्ष होने पर 50% तक की वैल्यू का पैसा निकलवा सकते हैं।

यहाँ पर हमने डाक घर बचत योजनाओं के बारे में संक्षेप में बताया है। फिर से बता दें कि ब्याज की दरें हर तीन महीने में बदल सकतीं हैं इसलिए डाक घर में कोई भी खाता खुलवाने से पहले चालू ब्याज दर की जानकारी ले लें। साथ ही योजना के सभी नियमों की जानकरी भी खाता खोलने से पहले डाक घर से जान लें।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *