सेविंग अकाउंट क्या है

सेविंग अकाउंट क्या है, इसे कैसे चलाते हैं और इसके नियम क्या है और इसे कहाँ कहाँ खुलवा सकते हैं। बचत खाता किस उद्देश्य के लिए खुलवाया जाता है, इसमें कितना ब्याज मिलता है, कितने पैसे जमा करवा सकते हैं और कितना बैलेंस रखना होता है। इस सब सवालों का जवाब आसान हिंदी में उन सब लोगों के लिए जिन्हें नहीं पता कि सेविंग अकाउंट क्या है और इसे कैसे चलाते हैं।

सेविंग अकाउंट क्या है
सेविंग अकाउंट क्या है

इंसान की बचत करने की आदत बहुत पुरानी है। जब से मुद्रा या करेंसी चलन में नहीं आयीं थीं उस से भी पहले आदमी अनाज का भंडारण करता था। हर कोई अपने अच्छे बुरे दिनों के लिए कुछ ना कुछ बचा कर रखता है। अपनी  इसी बचत को जब आदमी बैंक में सुरक्षित रखवा देता है तो जिस खाते में इस बचत को रखा जाता है उसे बचत खाता कहते हैं।

सेविंग अकाउंट क्या है

सेविंग अकाउंट यानी बचत खाता किसी बैंक, पोस्ट ऑफ़िस या वित्तीय संस्थान में खोला गया खाता है जिस पर खातेदार को मामूली ब्याज मिलता है। बैंक हर महीने आप कितनी बार अपने खाते से पैसे निकलवा सकते हैं उसकी सीमा निर्धारित कर सकता है। आपको अपने खाते में कम से कम एक निश्चित मासिक औसत राशि रखनी होती है। निर्धारित औसत बैलेंस ना रख पाने से खाते में शुल्क भी देना पड़ सकता है। आपके खाते में चेक की सुविधा भी मिल सकती है।

बचत खाते के फ़ायदे

आपकी दैनिक ज़रूरतों से अतिरिक्त बचे पैसे को बैंक में रखना सुरक्षित होता है। बैंक आपको इस पर ब्याज भी देता है। जब भी आवश्यकता हो आप बचत खाते से पैसे निकलवा सकते हैं। ATM की मदद से आप जब चाहे दिन में कभी भी अपने पैसे बैंक से निकलवा सकते हैं। पैसों का आप कहीं भी निवेश करें, उसे निकलवाना सबसे आसान बचत खाते में ही होता है। ऑनलाइन बैंकिंग और मनी वॉलेट से आप अपने खाते से किसी को भी धन स्थानांतरित कर सकते हैं।

बचत खाते के नुक़सान

क्योंकि बचत खाते का पैसा आसानी से उपलब्ध होता है इसीलिए इसके आसानी से ख़र्च हो जाने की सम्भावना भी बनी रहती है। यदि पैसा फ़िक्सड डिपॉज़िट में रखा हो तो उसे खुलवाने में खाते दार सोचता है। बचत खाते में ब्याज काम मिलता है। अधिक तर बैंकों में सेविंग अकाउंट में चार प्रतिशत ब्याज मिलता है। इसीलिए बचत खाते में अधिक समय तक पैसा नहीं रखना चाहिए।


सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रखना चाहिए

आम तौर पर अपनी मासिक आय का तीन से छः गुना पैसा बचत खाते में रखना चाहिए। जिससे यदि कभी नौकरी चली जाए तो घर ख़र्च चलाने में कोई समस्या नहीं आए। या फिर यदि कोई बीमारी का इलाज करवाना हो तो बचत खाते में रखा पैसा आसानी से निकलवाया जा सकता है। इससे अधिक पैसा कहीं निवेश करना चाहिए जहाँ बेहतर रिटर्न मिलें। खातेदार को बचत और निवेश में अंतर को समझना चाहिए।

बचत खाता कैसे चलाते हैं

बचत खाता खुलवाने के लिए आप बैंक या डाक घर जा सकते हैं। आप बैंक मित्र की मदद भी ले सकते हैं। आपको अपनी पास्पोर्ट साइज़ फ़ोटो और घर के पते का सबूत देना होगा। बैंक आपसे आधार कार्ड भी माँग सकता है। यदि आपके पास पैन कार्ड है तो उसे भी ले जाएँ। कुछ बैंक ऑनलाइन खाता खुलवाने की सुविधा भी देते हैं। आप अपने खाते में बैंक के काउंटर पर जा कर, ऑनलाइन ट्रान्स्फ़र से या चेक द्वारा पैसा जमा करवा सकते हैं। पैसे निकलवाने के लिए भी आप बैंक की शाखा में जा सकते हैं या ATM से पैसे निकलवा सकते हैं। बैंक हर तिमाही आपके खाते की राशि के अनुसार आपके खाते में ब्याज जमा कर देता है।

आशा है आपको समझ आ गया होगा कि सेविंग अकाउंट क्या है और आपको सेविंग अकाउंट सम्बंधी सभी सवालों के जवाब हमारे इस लेख में मिल गए होंगे।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *