शेयर होल्डर के अधिकार

शेयर होल्डर के अधिकार क्या होते हैं एक सामान्य अंशधारी या शेयर होल्डर के विशिष्ट आधिकार होते हैं जो कि कंपनी अधिनियम, 2013 के अंतर्गत निर्धारित हैं। कंपनी के शेयरधारक कंपनी के मालिक हैं क्योंकि उनके पास कंपनी द्वारा जारी इक्विटी शेयर हैं। कंपनी अधिनियम 2013 के तहत शेयरधारकों को विभिन्न अधिकार और सुरक्षा प्रदान की गयी है। इस लेख में शेयर होल्डर के अधिकार क्या हैं उन पर चर्चा करेंगे। शेयर बाजार के बारे में अधिक जानकारी ओर अन्य पहलुओं को जानने के लिये Share Market in Hindi विस्तार से पढ़ें।

शेयर होल्डर के अधिकार
शेयर होल्डर के अधिकार

शेयरधारकों के अधिकार

सभी आम शेयरधारकों के पास जो सबसे आम अधिकार है उनमें शामिल हैं कंपनी के लाभ, आय और परिसंपत्तियों में हिस्सेदारी का अधिकार, नियंत्रण प्रबंधन और कंपनी प्रबंधन चयन पर प्रभाव का अधिकार और सामान्य बैठक में मतदान का अधिकार।

लाभप्रदता में हिस्सेदारी

कंपनी के आंशिक मालिकों के रूप में, आम शेयरधारकों को कंपनी के लाभप्रदता profitability में भाग लेने का अधिकार है जब तक वे शेयरों के मालिक हों। लाभ का डिवीजन शेयरधारक के स्वामित्व वाले शेयरों की संख्या पर आधारित होता है। कई बार लंबे समय तक जुड़ कर यह बड़ी राशि बन सकती है।

लाभांश में अधिकार

कंपनी द्वारा उत्पन्न लाभ में हिस्सेदारी के अलावा शेयरधारकों को लाभांश भुगतान के माध्यम से आय वितरण के अधिकार भी हैं। यदि किसी कंपनी के निदेशक मंडल एक निश्चित अवधि में लाभांश घोषित करते हैं, तो आम शेयरधारक इसे प्राप्त करने के अधिकारी हैं। लाभांश की घोषणा वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों की मंजूरी के के बाद होती है। लाभांश की घोषणा होने के बाद इसका भुगतान 30 दिनों के भीतर कर दिया जाना चाहिए।

नए शेयर खरीदने का अधिकार

अगर कंपनी जनता को नए शेयर जारी करती है, तो मौजूदा शेयरधारकों को नए संभावित शेयरधारकों को स्टॉक की पेशकश करने से पहले विशिष्ट संख्या में शेयर खरीदने का अधिकार होता है।

वोट देने का अधिकार

आम शेयर होल्डर के अधिकार जानने के समय आप पायेंगे कि शेयरधारकों के लिए सबसे बड़ा अधिकार कंपनी की वार्षिक या सामान्य बैठक (AGM) में वोट डालने की क्षमता है। सार्वजनिक रूप से कारोबार वाली कंपनी के भीतर प्रमुख बदलावों को परिवर्तनों से पहले मतदान किया जाना चाहिए, और आम शेयरधारकों को व्यक्तिगत रूप से या प्रॉक्सी के माध्यम से मतदान करने का अधिकार है।


वार्षिक या सामान्य बैठक

सभी कंपनियों को हर साल वार्षिक आम बैठक आयोजित करने की आवश्यकता होती है। दो वार्षिक आम बैठकों के बीच 15 महीने से अधिक समय का फासला नहीं होना चाहिये। किसी कंपनी के सभी शेयरधारकों को वार्षिक मीटिंग्स AGM और असाधारण सामान्य बैठकों EGM को आयोजित करने और ऐसी बैठकों में पारित होने वाले प्रस्तावों में से प्रत्येक के समर्थन में या उसके खिलाफ मतदान करने का अधिकार प्राप्त है।

MOA या AOA में बदलाव

कंपनी के Memorandum of Association यानि मेमोरेंडम अॉफ आर्टिकल या Articles of Association आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन को केवल कंपनी की एक आम बैठक में ही संशोधित किया जा सकता है जिसे कंपनी के शेयरधारकों को पर्याप्त नोटिस भेज कर बुलाया जा सकता है। सभी शेयरधारकों को एमओए या एओए में बदलाव से संबंधित संशोधन पर वोट देने का अधिकार होता है।

सामान्य बैठक आयोजित करने का अधिकार

किसी कंपनी के निदेशक मंडल को Evtra Ordinary General Meeting (ईजीएम) आयोजित करना तब जरुरी हो जाता है जब ईजीएम को कंपनी के पेडअप केपिटल के 10% हिस्सेदारी रखने वाले शेयरधारकों से ईजीएम आयोजित करने का अनुरोध प्राप्त होता है। यदि निदेशक मंडल प्रदान किए गए समय के भीतर ईजीएम के लिए कॉल करने में विफल रहता है तो शेयरधारक खुद ईजीएम बुला सकते हैं।

शेयरों को हास्तांतरित करने का अधिकार

किसी कंपनी के शेयरधारकों को कंपनी में उनके शेयरों को स्वतंत्र रूप से हास्तांतरित करने का अधिकार है। बोर्ड शेयरों के हस्तांतरण को पंजीकृत करने से इनकार कर सकता है अगर वे पूरी तरह से भुगतान (Fully Paid Up) नहीं किये गये हैं या जहां ट्रांसफ्री बोर्ड द्वारा अनुमोदित व्यक्ति नहीं है।

अल्पसंख्यक शेयरधारकों का संरक्षण

बहुमत शेयरधारकों द्वारा कंपनी के मामलों में अल्पसंख्यक शेयरधारकों के अधिकारों का दमन होता है या कुप्रबंधन के मामले में, अल्पसंख्यक शेयरधारकों को इससे राहत पाने का अधिकार दिया गया है। ऐसा होने पर कम से कम 100 शेयरधारक या कुल शेयरधारकों का 10% या उससे अधिक Company Law Board में शिकायत कर सकते हैं। कंपनी लॉ बोर्ड ऐसा पाये जाने पर उचित कार्यवाही कर सकता है।


Leave A Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *